Translate

Monday, July 2, 2012

मैंने सुना है रामदीन एक नाम डर का एक नाम बेबसी का एक नाम तुम्हारा एक हमारा मैंने सुना है हम में तुम में हरेक दिल में एक रामदीन मैंने सुना है जब जब थाने में लिखी गई रिपोर्ट जब जब बैठी मुखिया के आँगन में पंचायत जब जब देखा भीड़ को मौन मैंने हाँ मैने सुना है अब रामदीन को होश आ रहा है शायद सच की ताकत पहचान लिया इसलिये रामदीन को जोश आ रहाहै कथनी और करनी में फर्क जी नहीं साहब धुँआ वहीं दिखे जहाँ आग लगी हो अभी सवाल जबाब का वक्त नहीं उठो क्योंकि रामदीन उठ गया है क्राँति अमर रहे

No comments:

Post a Comment